मंडियों में लगे ताले किसान उतरे सड़कों पर

17 नवम्बर 2016

Download company Profile


WEATHER



देश भर में ५०० व १००० रुपये के नोटों के बंद करने की घोषणा को 9 दिन पूरे हो गए है, इसका असर देश भर की मंडियों व किसानों पर देखने को मिल रहा है | अचानक से नोटों पर लगे बैन के इस फ़ैसले से छोटे व्यापारियों और किसानों को काफ़ी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, वहीं कुछ मंडियों में आवक में कमी देखने को मिल रही है तो कुछ मंडियों में ताला लगा दिख रहा है| देश के लगभग सभी APMC मंडियों में नगद लेन-देन में व्यापार होता है, केंद्र सरकार के इस फैसले के नियमानुसार बैंकों से सीमित लेन-देन के चलते व्यापारियों के क्रय-विक्रय का कार्य भी सीमित हो गया है|

   

मध्य प्रदेश की खरगोन मंडी में व्यापारियों द्वारा कपास ना खरीदने पर किसान सड़कों पर उतर गए थे। फिलहाल स्थिति सामान्य बनी हुई है| व्यापारी किसानों को चेक के माध्यम से भुगतान कर रहे है। लेकिन मंडियों में आवक व कपास के मूल्यों में भारी गिरावट दर्ज की गयी है | गुजरात के व्यापारी केशव पटेल जी ने बताया कि "अभी व्यापार का पीक समय चल रहा है, मंडियों में मूंगफली और कपास की आवक शुरू हो गयी है, पर मुद्रा के अभाव में व्यापार स्थगित हो गया है, मंडियों में आवक भी थम गयी है |"

   

इसका असर किसानों पर ज्यादातर देखने को मिल रहा है | वर्तमान में रबी फसलों की बुवाई का समय शुरू हो चुका है | नगद भुगतान के अभाव में किसान ना तो कटी फसलों को मंडी ले कर जा रहे हैं और ना ही रबी फसलों की बुवाई कर रहे है | उत्तर प्रदेश के रहने वाले किसान महेन्द्र जी ने बताया की "गेहूं की बुवाई के लिए खाद-पानी खरीदनी है, बिना पैसों के दुकान वाला भी नहीं दे रहा ना ही ५०० रुपये की नोट ले रहा ऐसी स्थिति में गेहूं की बुवाई देर से ही होगी |"





weather


BKC Weathersys Pvt Ltd. | H-135, Sector 63, Noida 201307, India

T: +91 120 4632520/21 |M: +91 9810062673| F: +91 120 4632511/2427869

E: bk@weathersysbkc.com| weather@weathersysbkc.com

W: www.weathersysbkc.com | www.weatherindia.net